BCCI Ethics Officers: बीसीसीआई में बड़ा बदलाव हुआ, विनीत सरन बने उच्चतम न्यायालय के नए आचरण अधिकारी और लोकपाल

BCCI Ethics Officers: विनीत सरन बने उच्चतम न्यायालय के पूर्व न्यायाधीश BCCI के नए लोकपाल ओर आचरण अधिकारी Vineet saran ने न्यायमूर्ति DK Jain का स्थान ले लिया है। ओर सरन ओडिशा उच्च न्यायालय के पूर्व न्यायाधीश भी रहे हैं

BCCI Ethics Officers: बीसीसीआई में बड़ा बदलाव हुआ, विनीत सरन बने उच्चतम न्यायालय के नए आचरण अधिकारी और लोकपाल
Vineet-Saran-Appointed-judge-of-Supreme-Court

BCCI Ethics Officers

भारतीय क्रिकेट बोर्ड ( BCCI )का नया आचरण अधिकारी और लोकपाल की नियुक्ति हो गई है। न्यायमूर्ति  DK Jain का कार्यकाल पिछले साल जून में ही समाप्त हो जाने के बाद ये दोनों पद पिछले 1 साल से खाली पड़े थे। ऐसी स्थिति में उच्चतम न्यायालय के पूर्व न्यायाधीश Vineet Saran को दोनों पद की जिम्मेदारिया सौंपी दी गई है।


Vineet saran ने न्यायमूर्ति DK Jain का स्थान ले लिया है। ओर सरन ओडिशा उच्च न्यायालय के पूर्व न्यायाधीश भी रहे हैं। ओर सरन इलाहाबाद ओर कर्नाटक उच्च न्यायालय में न्यायाधीश के रूप में भी कार्य किया है। 

BCCI के एक अधिकारी ने यह कहा कि माननीय न्यायमूर्ति विनीत सरन की नियुक्ति पिछले महीने ही हुई है। जब सरन से संपर्क किया तो 65 साल के इस न्यायाधीश ने खुद को क्रिकेट का प्रशंसक करार देते हुए यह कहा कि मैंने पिछले ही महीने कार्यभार संभाला, लेकिन अभी तक कोई भी आदेश पारित नहीं किया।

BCCI Ethics Officers:


बोर्ड से जुड़ी एक और खबर में Indian Premier league में मीडिया राइट्स से रिकॉर्ड तोड़ कमाई के बाद BCCI घरेलू मैचों की Media Rites को लेकर चर्चा करने वाली हैं। BCCI की शीर्ष समिति की अगली मीटिंग में घरेलू मैचों  के मीडिया अधिकारों को लेकर चर्चा करेंगी। 

कॉविड 19 महामारी के वजह से पिछले 2 साल में बोर्ड की ज्यादातर Mitting Online ही हुई है। परंतु मुंबई में होने वाली इस मीटिंग में सभी सदस्यों के मौजूद रहने की भी उम्मीद है।मीटिंग के लिए तय 12 सूत्रीय एजेंडे  '2022-2023 के घरेलू सत्र को लेकर  अंपायरों का वर्गीकरण और भारत में खेले जाने वाले क्रिकेट मैचों के लिए मीडिया अधिकार' शामिल भी हैं।

 BCCI की मेजबानी वाली मुकाबलों का मौजूदा अधिकार Star India के पास ही है जिसने 2018-23 चक्र के लिए 6138 करोड़ रु. चुकाए थे। IPL Media Rites के लिए हालांकि 48391 करोड़ रु.की बोली लगने के बाद भी इस रकम का काफी अधिक होना  तय है। बोर्ड के एक अधिकारी ने यह कहा हैं,कि मीडिया अधिकारों के से आने वाले घरेलू सत्र पर भी चर्चा भी की जावेगी।

Corona Virus के कारण से  2021 में पहली बार Ranji trophy का आयोजन नहीं हो पाया था। और इसलिए इस साल इसे मैचों की कम संख्या के साथ ही आयोजित किया गया हैं। बायो-बबल  के बिना सभी खेल का आयोजन होने के बाद अब BCCI के पास पूर्ण घरेलू सत्र  का विकल्प हैं। BCCI  पिछले महीने की घोषणा के बाद पूर्व क्रिकेटरों की पेंशन में वृद्धि की भी जांच करेगा।

Also Read: Ben Stokes Retirement ODI : इंग्लैंड टीम के खतरनाक ऑल राउंडर Ben Stokes ने ODI Cricket से लिया संन्यास