Rocketry-The Nambi Effect Movie Review: देशप्रेम के साइड Effect

देशप्रेम के साइड, देर तक सोचते ही रहते हैं हम कि ऐसा भी हो सकता है R. Madhavan film review 2022: यह एक कहानी नहीं,बल्कि इफेक्ट्स सच है. देश के Space Program के लिए जुनूनी साइंटिस्ट Nambi Narayan के साथ जो कुछ हुआ.....

Rocketry-The Nambi Effect Movie Review: देशप्रेम के साइड Effect
Rocketry-The Nambi Effect Movie Review

Rocketry-The Nambi Effect Movie Review

R. Madhavan film review 2022: यह एक कहानी नहीं,बल्कि इफेक्ट्स सच है. जो सिस्टम ने उनके साथ किया था, वह सुनकर रोंगटे खड़े कर देता है. रॉकेट साइंस तो कम ही समझ में आती है. इसलिए यहां उसमें दिमाग न लगाएं. इंसानी बर्ताव की साइंस इस फिल्म से आसानी से समझी जा सकती है.
Bollywood film review 2022: कुछ ही फिल्में ऐसी होती हैं, जिन्हें देखने के बाद आप देर तक यह सोचते हैं कि अभी जो देखा वह वो वाकई में सच था. Rocketry the Nambi Effect उन्हीं फिल्मों में से है. एक देशप्रेमी जीनियस के साथ बिना किसी चेहरे वाला सिस्टम कितना बुरा बर्ताव करता है, रॉकेट्री यह दिखाते हुए आपको हैरानी में डालती है.

भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संस्थान (ISRO) के Scientist Nambi Narayan की यह कहानी है. 1960 के आखिरी दशकों में विक्रम साराभाई जैसे महान वैज्ञानिक के सहायक की तरह काम करने वाले Nambi R Madhvan अपने देश के लिए नासा का प्रस्ताव ऐसे ही ठुकरा देते हैं. देश में निर्मित रॉकेट अंतरिक्ष में भेजा जा सके, इसके लिए अपने स्तर पर पूर्ण जरूरी चीजें और तकनीक अलग-अलग देशों से इकट्ठा कर विकास इंजन बनाते हैं और अचानक एक दिन पाते हैं कि उन पर देश के खुफिया राज पाकिस्तान को बेचने का आरोप लग जाता है. पुलिस उन्हें उठाकर जेल ले जाती है. उन्हें और परिवार को जलील किया जाता है. सामाजिक बहिष्कार और देशद्रोही कहते हुए बुरी तरह से टॉर्चर किया जाता है.

फिल्म ने क्या किया देखिए


आगे की कहानी यह है कि जीनियस हार नहीं मानते. Nambi  बहुत लंबी लड़ाई लड़ते हैं. आखिरकार सुप्रीम कोर्ट से उन्हें क्लीन चिट मिल जाती है. केरल सरकार को उन्हें मुआवजा देने का आदेश दिया जाता है. अंत में ऐसी सरकार आती है, जो भारत के अंतरिक्ष कार्यक्रम में उनके योगदान को स्वीकार करते हुए उन्हें देश के श्रेष्ठ नागरिक पद्म सम्मान से नवाजती है. लेकिन सवाल यह है कि क्या ये चीजें उस जीनियस का समय लौटा सकती हैं, उसके अपमानोकी कीमत चुका सकती है. R Madhavan ने यह फिल्म नहीं बनाई होती तो जो Nambi Narayan के साथ हुआ था, वह इतने विस्तृत और विश्वसनीय ढंग से लोगों के सामने नहीं आ पाता.

वन मैन शो जानिए विस्तार से

Rocketry the Nambi Effect आपको सिनेमा की ताकत दिखाती है. इस बढ़िया प्रयास में R Madhvan ने एक साथ अनेक भूमिकाएं निभाई हैं. निर्माता-निर्देशक-लेखक और अभिनेता. अभिनय में भी वह Nambi Narayan के अलग-अलग गेट-अप में नजर आते हैं. यह वन मैन शो है. फिल्म का कंटेंट बहुत ज्यादा अच्छा है लेकिन हिंदी में इसको देखते हुए संवाद-भाषा के स्तर पर उन दर्शकों का ध्यान रखा जाता तो और भी बेहतर होता, जो अंग्रेजी नहीं जानते है. साथ ही फिल्म के पहले हिस्से में रॉकेट साइंस की Technical Vocabulary  और कुछ बातें उतनी आसानी से नहीं आ पाई हैं, जितनी आम आदमी समझ सकते है. इसके बावजूद फिल्म के इरादों में कोई भी कमी नहीं मिलती है और इसमें संदेह नहीं कि इस दौर में हमें ऐसे सिनेमा की जरूरत है. जब देशप्रेमी और देशद्रोही होने के प्रमाणपत्र सोशल मीडिया में बांटे जाते हो

माधवन का जुनून लाजबाव

माधवन की खोज इस कहानी में दिखाई देती है. Nambi Narayan की उपलब्धियों और उनके साथ हुए गलत बर्ताव को उन्होंने ईमादारी से उतारा है. इसी वजह से फिल्म की कहानी ढाई घंटे की फिल्म कुछ लंबी मालूम होती है. निर्देशक के रूप में Madhvan की पहली फिल्म है और इसमें उनका जुनून साफ झलकता है. उन्होंने फिल्म के हर डिपार्टमेंट में छोटी छोटी बातों का ध्यान रखा. फिल्म में टीवी जर्नलिस्ट के रूप में Shahrukh khan की मौजूदगी अच्छी लगती है और वह कहीं भी अपने स्टारडम के साथ प्रभावी होने की कोशिश नहीं करते. पर्दे के पत्रकार को इतने विनम्र रूप में देख कर भी आप हैरान हो सकते हैं. सभी कलाकार अपने किरदारों में बिल्कुल ठीक है.

पहले हिस्से में फिल्म तकनीकी शब्दावली की वजह से आपको कनेक्ट होने की कोशिश करना पड़ेगी जबकि दूसरे में खुद पर लगे आरोपों के खिलाफ Nambi और उनके परिवार का संघर्ष सहज ही आपको उनसे जोड़ देता है. आगे फिल्म का असर भी बढ़ता है. इस फिल्म को आप पारंपरिक सिनेमा की तरह नहीं देख सकते है. फिल्म खत्म होने के बाद आप खामोश दिखाई देंगे जब आप देश से प्यार करते हैं तो फिल्म देख कर Shoked भी महसूस करते हैं. सिर्फ आम लोगों को नहीं बल्कि प्रशासन और सत्ता के लोगों को भी यह फिल्म अवश्य देखनी चाहिए.

Director- R Madhavan

Stars- R Madhavan , Sam Mohan, Rajit Kapoor, Vincent riyota, Simran, Shahrukh Khan