पंजाब Live: PM मोदी से मिले राहुल गांधी के बहुत खास रवनीत सिंह बिट्टू, कांग्रेस छोड़ने की अटकलें चली

लुधियाना से कांग्रेस सांसद रवनीत सिंह बिट्टू की प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात हुई को लेकर अटकलों का बाजार बहुत गर्म हो गया है.ऐसा माना जा रहा है कि आने वाले दिन में बिट्टू 'हाथ' छोड़कर 'कमल' का दामन पकड़ सकते हैं हालांकि फिलहाल उन्होंने इससे मना किया है

पंजाब Live: PM मोदी से मिले राहुल गांधी के बहुत खास रवनीत सिंह बिट्टू, कांग्रेस छोड़ने की अटकलें चली

चंडीगढ़ Live: Punjab विधान सभा चुनाव में बहुत शर्मनाक हार का सामना करने वाली कांग्रेस (Congress) को क्या एक और झटका लगने वाला है देखिए? यह सवाल खड़ा हुआ है पार्टी सांसद रवनीत सिंह बिट्टू (Ravneet Singh Bittu) की प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) से मुलाकात को लेकर बिट्टू सोमवार को PM मोदी से मिलने पहुंचे, इसके बाद से अटकलों का दौर भी शुरू हो गया है इस मुलाकात को लुधियाना के कांग्रेस नेता के दल बदलने के संकेत के तौर पर भी देखा जा रहा है 

PM की इस चाहत का किया जिक्र सांसद ने
लुधियाना से कांग्रेस सांसद रवनीत सिंह बिट्टू (Congress MP Ravneet Singh Bittu) का कहना था कि PM से मुलाकात सिर्फ पंजाब के मुद्दों पर चर्चा के लिए हुई थी उनके करीबियों ने भी इससे इनकार किया कि बिट्टू BJP ज्‍वॉइन कर रहे है या करेंगे उन्‍होंने यह भी कहा कि पीएम चाहते हैं बिट्टू पंजाब में सत्‍ताधारी Aam Aadmi Party से लड़ें और बता दें कि अपने दादा और पूर्व सीएम बेअंत सिंह की वर्ष 1995 में हत्‍या के बाद से भी बिट्टू पार्टी में हिंदू चेहरे के तौर पर पहचाने जाते आए हैं

बिलकुल साइलेंट मोड में चलती आ रही है कांग्रेस 
सीनियर कांग्रेस लीडर ने पीएम के साथ मुलाकात कर फोटो ट्वीट की हैं पंजाब विधान सभा चुनाव में आम आदमी पार्टी के हाथों शिकस्त के बाद भी राज्‍य में कांग्रेस इस समय 'साइलेंट मोड' में है. पार्टी की ओर से इस मुलाकात को लेकर अभी तक कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है, वैसे पार्टी नेताओं का मानना है कि इस मुलाकात को लेकर बहुत ज्यादा सोचने की जरूरत भी नहीं है

77 से सिर्फ 18 सीटों पर आई पार्टी कांग्रेस
पिछले माह चुनाव नतीजों के घोषणा के बाद पंजाब में कांग्रेस पार्टी सदमे में है अरविंद केजरीवाल की AAP की पंजाब में धमाकेदार जीत दर्ज करते हुए कांग्रेस, अकाली दल और BJP को टक्कर दी थी. कांग्रेस का प्रदर्शन इतना खराब रहा कि 2017 में 77 सीटों पर जीत हासिल करने वाली पार्टी इस बार केवल 18 सीटें ही रह गई. हार के बाद राज्‍य कांग्रेस प्रमुख (Navjot Singh Sidhu) को इस्‍तीफा देना पड़ा है पंजाब विधान सभा में नेता प्रतिपक्ष भी नियुक्‍त नहीं किया गया है.

इस वजह से नाराज हैं बिट्टू देखिए
रवनीत सिंह बिट्टू को कांग्रेस नेता राहुल गांधी (Rahul Gandhi) का करीबी भी माना जाता है लेकिन पिछले कुछ समय से वह पार्टी से नाराज भी चल रहे हैं. दरअसल क्या है, बिट्टू चाहते थे कि उन्हें पंजाब का मुख्यमंत्री बनाया जाए, लेकिन कांग्रेस ने चरणजीत सिंह चन्नी पर विश्वास जताया. बिट्टू को चन्नी, सिद्धू और अमरिंदर सिंह का विरोधी भी माना जाता है. भले ही बिट्टू BJP में शामिल होने की अटकलों को नकार कर रहे हों लेकिन CM न बन पाना उनके पाला बदलने की संभावना से इनकार नहीं किया जा सकता.