हिजाब विवाद में अल कायदा की हुई एंट्री अल्लाहू अकबर का नारा लगाने वाली लड़की की करी तारीफ

Karnataka Hijab Row: आतंकी संगठन अल कायदा के चीफ ने कर्नाटक हिजाब विवाद को मुद्दा बनाकर भारतीय मुसलमानों को भड़काने.....

हिजाब विवाद में अल कायदा की हुई एंट्री अल्लाहू अकबर का नारा लगाने वाली लड़की की करी तारीफ

Karnataka Hijab Row: आतंकी संगठन अल कायदा के चीफ ने कर्नाटक हिजाब विवाद को मुद्दा बनाकर भारतीय मुसलमानों को भड़काने का प्रयास किया है. अयमान अल जवाहिरी ने हिजाब बैन को उत्पीड़न बताते हुए कहा भीड़ के सामने 'अल्लाहू अकबर' चिल्लाने वाली लड़की की तारीफ की

बेंगलुरु live: कर्नाटक हिजाब विवाद (Karnataka Hijab Controversy) में अब अल कायदा (Al Qaida) की एंट्री हो चुकी है आतंकी संगठन के सरगना अयमान अल जवाहिरी (Ayman Al Zawahiri) ने हिजाब बैन को पीड़ा बताते हुए भारतीय मुस्लिमों को इसके खिलाफ आवाज उठाने के लिए भड़काया है. जवाहिरी ने 9 मिनट का वीडियो डाल कर कर्नाटक की छात्रा मुस्कान खान की तारीफ की है जिसने 'जय श्री राम' का नारा लगाने वाली भीड़ के आगे 'अल्लाहू अकबर' चिल्लाया था.


मुस्कान को कहा था -‘नोबल वुमन ऑफ इंडिया’


अल कायदा प्रमुख अयमान अल जवाहिरी (Ayman Al Zawahiri) ने मुस्कान की तारीफ में कविता पढ़ी है इस वीडियो को अल कायदा के आधिकारिक शबाब मीडिया ने जारी किया है और SITE इंटेलिजेंस ग्रुप ने इसकी पुष्टि करी है ओसामा बिन लादेन के बाद अल कायदा का सरगना बनने वाले जवाहिरी ने कर्नाटक की कॉलेज स्टूडेंट मुस्कान खान की खुलकर  बहुत तारीफ की. वीडियो के टाइटल और पोस्टर में लिखा हुआ है- नोबल वुमन ऑफ इंडिया

हिजाब बैन करने वाले देशों पर निशाना किया

वीडियो में कहते सुना जा सकता है कि उसे सोशल मीडिया के जरिए मुस्कान के बारे में पता चला उसने आगे बताया इस बहन ने धर्म की आवाज उठाकर मेरा दिल जीत लिया. इसलिए मैं उसकी तारीफ में कविता पढ़ रहा हूं कविता पढ़ने के बाद जवाहिरी ने पाकिस्तान और बांग्लादेश के साथ उन देशों पर हमला बोला जिन्होंने हिजाब को बैन किया है. उसने इन देशों को पश्चिमी देशों का सहयोगी करार दिया है

नवंबर के बाद जारी जवाहिरी का पहला वीडियो

पिछले साल नवंबर के बाद यह जवाहिरी का पहला वीडियो जारी हुआ है. गौरतलब है कि इसी साल जनवरी में कर्नाटक में हिजाब विवाद शुरू हुआ हो गया था उडुपी के एक सरकारी स्कूल में कुछ छात्राओं को हिजाब पहनकर क्लास में जाने से रोका गया था इसके बाद देश के कई हिस्सों में विरोध-प्रदर्शन भी हुए. हिजाब के विरोध में मांड्या के पीईएस कॉलेज में कुछ छात्र भगवा शॉल ओढ़कर आए थे. बाद में यह मामला कर्नाटक हाई कोर्ट में पहुंचा कोर्ट ने अपने फैसले में बताया कि हिजाब इस्लाम धर्म का अभिन्न अंग नहीं है और इसलिए राज्य सरकार को इसे स्कूलों के अंदर यूनिफॉर्म का हिस्सा बनाने का आदेश नहीं दिया जा सकता है