श्रीलंका में और हालात बिगड़ते हुए नजर आने के कारण राष्ट्रपति ना कर दिया आपातकाल का ऐलान

Emergency in Sri Lanka :- श्रीलंका के राष्ट्रपति Gotabaya Rajapaksha ने आपातकाल की घोषणा कर दी है आर्थिक संकट से जूझ रहे श्रीलंका में स्थिति पर कंट्रोल करने के लिए यह बड़ा फैसला किया गया है

श्रीलंका में और हालात बिगड़ते हुए नजर आने के कारण राष्ट्रपति ना कर दिया आपातकाल का ऐलान

श्रीलंका में इस समय आजादी के बाद से सबसे खराब स्थिति देखी जा रही है श्रीलंका बहुत ही खराब दौर से गुजर रहा है स्थिति बहुत ही पद से बदतर होती दिखती नजर आ रही है इस बीच श्रीलंका के राष्ट्रपति कोतवाल राजपक्षे ने श्रीलंका में आपातकाल लगाने की घोषणा कर दी है जारी किया गया आदेश में यह भी कहा गया है कि देश की सुरक्षा और आवश्यक सेवाओं की आपूर्ति के लिए यह लिया गया बहुत बड़ा फैसला है 1 अप्रैल से ही यह आपातकाल लागू किया जाएगा

श्रीलंका में लगा आपातकाल 1 अप्रैल से

श्रीलंका के राष्ट्रपति राजपक्षे के द्वारा यह फैसला तब लिया गया जब उनकी सरकार के खिलाफ देश में प्रदर्शन बहुत ही तेजी से फैल रहा है जब से श्रीलंका में आर्थिक संकट बना हुआ है जब से देश दिवालिया तथा कंगाल होने की कगार पर पहुंच गया है

राष्ट्रपति के खिलाफ लोगों के अंदर आक्रोश नजर आ रहा है गुरुवार को उनके आवास पर भारी भीड़ ने हिंसा प्रदर्शन करने की कोशिश की तथा हालात इतने बिगड़ गए थे कि पुलिस बलों ने आक्रोश इयों पर वाटर कैनन का इस्तेमाल कर भगाया तथा उन पर जमकर लाठियां बरसात की

श्रीलंका में हो रहे हैं जगह-जगह पर प्रदर्शन स्थिति हुई बेकाबू

श्रीलंका में यह प्रदर्शन सिर्फ राष्ट्रपति के आवास के बाहर ही नहीं बल्कि श्रीलंका के अलग-अलग जगहों से ऐसी कई तस्वीर सामने आ रही है जिसमें देखा गया है कि पुलिस से भी भारी झड़प हो रही है तथा आंसू गैस के गोले भी दागे जा रहे हैं और जमीन पर खराब माहौल बना हुआ है और यह सब होने का कारण यह है कि श्रीलंका एक साथ कई चुनौतियों का सामना कर रहा है बिजली का भी बहुत बड़ा संकट श्रीलंका में खड़ा हो गया है घंटों के लिए देश अंधेरे में रहने को मजबूर हो चुका है बसों और वाणिज्यिक वाहनों के लिए पेट्रोल पंप पर डीजल नहीं बचा है अधिकारियों पर मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक श्रीलंका में सार्वजनिक परिवहन की सेवाएं बहुत ही बुरी तरीके से प्रभावित हो चुकी है
 

इसके अलावा भी श्रीलंका में पढ़ाई पर भी इस आर्थिक संकट का जबरदस्त प्रभाव देखा जा रहा है पहली बार देश में कागज की ऐसी कमी हुई है कि परीक्षाओं को अनिश्चितकाल के लिए रोका गया है इन सब चुनौतियों से परेशान होकर ही बहुत लोग अब सड़क पर प्रदर्शन के लिए उतर आए हैं वह अपने हकों के लिए प्रदर्शन कर रहे हैं अब कुछ जगह यह प्रदर्शन शांति पूर्ण दिखते नजर आ रहे हैं तो कई जगहों पर हिंसक भी नजर आ रही है यही कारण है कि Colombo North, Columbus South, Columbus Central और Nugeghoda पुलिस डिवीजन में कर्फ्यू बढ़ा दिया गया है