चंद्रमा पर कब्जे की तैयारी में है चीन, अमेरिकी की अंतरिक्ष एजेंसी नासा ने किया दावा

नेल्सन ने हाल में जर्मन अखबार को दिये interview में कहा, हमें चीन के चंद्रमा पर जाने को लेकर और उसके इस कथन के बारे में बहुत चिंता होना चाहिए कि अब यह पीपल्स रिपब्लिक का है और अन्य सभी को इससे अलग रहना ही चाहिए

चंद्रमा पर कब्जे की तैयारी में है चीन, अमेरिकी की अंतरिक्ष एजेंसी नासा ने किया दावा
chandrama par kabje ki taiyari me china america ne kiya dava

बीजिंग News: अमेरिका पर 'अंतरिक्ष में हथियारों की होड़ को बड़ाना और वैश्विक रणनीतिक स्थिरता को रोकने' करने का आरोप लगाते हुए कहा चीन ने नासा प्रमुख बिल नेल्सन पर उनके इस बयान के लिए सीधा निशाना साधा है कि अपनी सेना के नेतृत्व में आक्रामक जेसे तरीके से अंतरिक्ष कार्यक्रम पर चला रहा चीन एक दिन चंद्रमा पर कब्जा करके उस पर अपना स्वामित्व का दावा कर सकता है. चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता झाओ लिजियान ने बताया कि ऐसा पहली बार नहीं हुआ है कि नासा प्रशासक ने तथ्यों की अनदेखी करते हुए चीन पर सीधा निशाना साधा है.

उन्होंने सोमवार को कहा की, “कुछ अमेरिकी अधिकारियों ने गलत तरीके से अपनी बात को रखा है और चीन के सामान्य एवं वैध अंतरिक्ष के संबंध में प्रयासों को गलत तरीके से पेश किया है. चीन ऐसे बयानों को पूरी तरह नकारता है
लिजियान ने अमेरिका पर अंतरिक्ष में हथियारों की होड़ को बढ़ावा देने के जैसा और वैश्विक रणनीतिक स्थिरता को बाधित करने जैसा आरोप लगाया.

नेल्सन ने हाल में जर्मन अखबार बिल्ड को दिये interview में बताया, “हमें चीन के चंद्रमा पर जाने को लेकर और उसके इस कथन के बारे में बहुत चिंतित रहना चाहिए कि यह अब पीपल्स रिपब्लिक का ही है और अन्य सभी को इससे अलग ही रहना चाहिए."

उन्होंने द्वारा यह भी दावा किया कि चीन के अंतरिक्षयात्री सीख रहे हैं कि दूसरे देशों के उपग्रहों को किस तरह तबाह किया जाए.

हांगकांग के साउथ चाइना मॉर्निंग पोस्ट अखबार के मुताबिक नेल्सन ने बताया कि चीन और अमेरिका के बीच अंतरिक्ष में कड़ी टक्कर है और खासतौर पर चंद्रमा के दक्षिणी पोल के लिए यह टक्कर है जहां पानी मिलने की बहुत संभावना है.
उन्होंने यह भी दावा किया है कि चीन के अंतरिक्षयात्री ये सीख रहे हैं कि दूसरे देशों के उपग्रहों को किस तरह तबाह किया जाए.

हांगकांग के साउथ चाइना मॉर्निंग पोस्ट अखबार के अनुसार नेल्सन ने लिखा कि चीन और अमेरिका के बीच अंतरिक्ष में कड़ी टक्कर है और खासतौर पर चंद्रमा के दक्षिणी पोल के लिए यह टक्कर है जहां पानी मिलने की बहुत संभावना है.
नासा प्रमुख के बयानों की निंदा करते हुए लिजियान ने बताया कि अमेरिका ने अंतरिक्ष को स्पष्ट रूप  से युद्ध वाला क्षेत्र बताया है. उन्होंने बताया कि, "वह एक अंतरिक्ष बल और अंतरिक्ष कमान बनाने की कोशिश को तेज कर रहे है, हमला करने वाले अंतरिक्ष में हथियार भी विकसित कर रहा है और उन्हें तैनात भी कर रहा है, बाहरी अंतरिक्ष में शस्त्रों पर नियंत्रण को लेकर एक कानूनी समझौते के लिए वार्ता प्रक्रिया को रोक कर रहा है तथा बाहरी क्षेत्र में उसके सहयोगियों के साथ सैन्य सहयोग को बड़ावा दे रहा है."

चीन ने 2030 के आसपास चंद्रमा पर कुछ अंतरिक्षयात्रियों को भेजने की तैयारी में है तथा वहां पांच साल बाद या इसके आसपास एक स्टेशन भी बनाने के लिए एक महत्वाकांक्षी चंद्र मिशन की घोषणा कर सकता है.