Anderson Peters : फास्ट बॉलर बनना चाहते थे Anderson Peters, अब तोड़ा नीरज चोपड़ा का गोल्ड मेडल का सपना

Anderson Peters पहले फास्ट बॉलर बनना चाहते थे, लेकिन अब उन्होंने भारत के स्टार चैंपियन नीरज चोपड़ा का गोल्ड मेडल जीतने का सपना तोड़ दिया।

Anderson Peters : फास्ट बॉलर बनना चाहते थे Anderson Peters, अब तोड़ा नीरज चोपड़ा का गोल्ड मेडल का सपना
Anderson Peters wanted to be cricketer

World Athletics Championships 2022

Neeraj Chopra को World Athletics Championships में गोल्ड मेडल जीतने का सपना टूट गया हैं। क्योंकि ग्रेनाडा के Anderson Peters ने भाला फेंक इवेंट का गोल्ड मेडल को अपने नाम कर लिया हैं। 24 साल के Anderson Peters  की कहानी बहुत ही दिलचस्प है। Anderson Peters क्रिकेटर और फास्ट बॉलर बनना चाहते थे। लेकिन इंजरी के कारण उनका ध्यान पूरी तरह जैवलिन की ओर चला गया।

Anderson Piters ने Neeraj Chopra को हरा कर गोल्ड मेडल जीता

Anderson Peters

World Athletics Championships 2022 में भारत के जैवलिन थ्रोअर Neeraj Chopra का गोल्ड जीतने का सपना पूरा नहीं हो सका। रविवार को हुए फाइनल मैच में नीरज ग्रेनाडा के खिलाड़ी Anderson Peters को  नहीं पछाड़ पाए। और उन्हें Silver Madel से ही संतोष करना पड़ा। Anderson Piters ने 90.54 मीटर के सर्वश्रेष्ठ थ्रो के साथ गोल्ड मेडल को अपने नाम कर लिया।

फास्ट बॉलर बनना चाहते थे एंडरसन

24 साल के Anderson Peters के जैवलिन थ्रोअर बनने की कहानी  बहुत ही ज्यादा दिलचस्प है  Anderson Peters अपने बचपन में आम तोड़ने के लिए पेड़ पर पत्थर को फेंका करते थे। ओर पीटर्स ने 10 साल की उम्र में जैवलिन फेंकना शुरू किया था। ओर स्कूली रिकॉर्ड भी बनाया था। Anderson Peters फास्ट बॉलिंग भी किया करते थे। ऐसे में वह क्रिकेटर और फास्ट बॉलर भी बनना चाहते थे।  लेकिन चोटों के कारण आखिर में उनका झुकाव पूरी तरह जैवलिन की ओर हो चला गया था।

पीटर्स ने World Athletics Podcast  को यह बताया की , 'मैं क्रिकेट को बहुत पसंद करता था।  ग्रेनाडा में हमारे पास 2 सीजन होते थे। एक तो Cricket और दूसरा Track - And - Field ,मैं एक तेज गेंदबाज हुआ करता था।  मुझे बस गेंद फेंकने पसंद आया। मुझे लगता कि मैं इसे इतनी तेज गति से फेंक सकता हूं कि कोई बल्लेबाज इसे देख भी नहीं सकता है।मैं हमेशा 90 मील प्रति घंटे से गेंद को फेंकने का टारगेट  रखता था

उसेन बोल्ट से काफी प्रभावित थे

Anderson Peters ने आगे यह भी  बताया की, 'उसी बीच Usain Bolt स्प्रिंटिंग की दुनिया में छाए हुए थे।उस साल बोल्ट ने World Record बनाया था। फिर मैं धावक भी बनना चाहता था। लेकिन इसके बाद मुझे चोटों ने  जैवलिन की ओर ढकेल दिया।' पीटर्स ने 20 साल की उम्र में  ही 100 मीटर के  रेस में भाग लिया था। साथ ही 2016 में कैरिफ्टा गेम्स में ग्रेनाडा के लिए रिले टीम के सदस्य भी थे.

Also Read:Neeraj Chopra World Athletics Championships : Neeraj Chopra ने एक बार फिर रचा इतिहास, WAC में जीता सिल्वर मेडल