Commonwealth Games 2022 Day 3: अचिंता शेउली ने भारत को तीसरा स्वर्ण दिलाया, भारत के पास अब तक 6 पदक

CWG 2022: जेरेमी के बाद अब उचिंता शेउली ने भी भारत को दिलाया गोल्ड, भारत के पास अब तक 3 स्वर्ण पदक, अचिंता शेउली ने स्नैच राउंड शीर्ष पर रहते हुए खत्म किया हैं।

Commonwealth Games 2022 Day 3: अचिंता शेउली ने भारत को तीसरा स्वर्ण दिलाया, भारत के पास अब तक 6 पदक
Achinta Sheuli  Won gold medal at CWG 2022

Commonwealth Games 2022 Achinta Sheuli 

Commanwealth Games के तीसरे दिन भारत को छठा पदक भी मिल गया है। अचिंता शेउली (Achinta Sheuli )ने भारत के लिए तीसरा स्वर्ण और छठा पदक भी हासिल कर लिया हैं। और इससे पहले रविवार को ही जेरेमी लालरिनुंगा ने इतिहास रचते हुए वेट लिफ्टिंग में स्वर्ण पदक हासिल किया था। वह बर्मिंघम में स्वर्ण पदक जीतने वाले भारत के पहले पुरुष एथलीट बने थे। ओर अब Achinta Sheuli ने भी स्वर्ण पदक जीत लिया है। अब तक भारत को 6 पदक मिले हैं और ये  सभी मेडल वेटलिफ्टिंग में ही आए हैं।

अचिंता शेउली ने भारत को तीसरा स्वर्ण पदक जीताया

Achinta Sheuli  Won gold medal at CWG 2022

भारत के वेटलिफ्टर अचिंता शेउली (Achinta Sheuli ) ने भी कमाल कर दिया  है। उन्होंने Birmingham Commonwealth Games में भारत के लिए तीसरा गोल्ड और छठा मेडल जीता है। अचिंता शेउली ने स्नैच राउंड शीर्ष पर रहते हुए खत्म किया हैं। उन्होंने अपने पहले ही प्रयास में 137Kg, दूसरे प्रयास में 140Kg और तीसरे प्रयास में 143Kg का भार उठाया।

143Kg उनका खुद का पर्सनल बेस्ट भी है। स्नैच राउंड में दूसरे नंबर पर मलेशिया के हिदायत मोहम्मद रहे हैं। अचिंता शेउली (Achinta Sheuli) ने हिदायत पर स्नैच राउंड के बाद 5 किलो की बढ़त बनाये रखी थी।इसके बाद क्लीन एंड जर्क राउंड में अचिंता शेउली ने अपने पहले प्रयास में 166kg का वजन उठाया था।

जो कि Commonwealth Games का रिकॉर्ड भी है। इसके बाद दूसरे प्रयास में उन्होंने 170Kg उठाने का प्रयास किया था। लेकिन असफल रहे थे। तीसरे प्रयास में फिर उन्होंने 170kg भार उठाया और अपने रिकॉर्ड में सुधार किया।

मलेशिया के हिदायत मोहम्मद दूसरे स्थान पर रहे।

हिदायत मोहम्मद ने स्नैच राउंड में 138Kg का वजन उठाया था। इसके बाद क्लीन एंड जर्क में उन्होंने अपने पहले ही प्रयास में 165 Kg का वजन उठाया था। अचिंता ने 170 Kg भार उठाकर स्नैच और क्लीन-जर्क मिलाकर कुल भार 313 Kg कर लिया था।

ओर हिदायत को इससे आगे निकलने के लिए क्लीन एंड जर्क में 176Kg का भार उठाना था। उन्होंने अपने दूसरे और तीसरे प्रयास में 176 Kg अटैम्प्ट  करने की कोशिश की थी। लेकिन असफल रहे। इस तरह अचिंता ने स्वर्ण पदक अपने नाम कर लिया था।

Also Read: Commonwealth Games 2022: बिंद्यारानी देवी ने सिल्वर मेडल अपने नाम किए, भारत का 4 पदक पर कब्जा